Updates

Hindi Urdu

आप IIT, IIM, और एजुकेशन की बात करते हैं तो आप को मौलाना आज़ाद की बात करनी ही होगी?

दो विचारधाराएं हैं। एक विचारधारा कहती है - ये देश सोने की चिड़िया है, अमित शाह जी के शब्द हैं। अमित शाह जी ने कहा कि ये देश सोने की चिड़िया है। मतलब ये देश एक प्रोडक्ट है। सोने की चिड़िया से सोना मिलता है और उसका फायदा चुने हुए लोगों को मिलना चाहिए। दूसरी सोच – ये देश एक नदी जैसे है, इस नदी में सब लोग हैं, ये एक साथ चलती है और हर एक व्यक्ति को नदी में, देश में जगह मिलनी चाहिए, चाहे वो किसी भी धर्म का हो, किसी भी जाति का हो, कोई भी भाषा बोले, कुछ भी पहने, सबको इस देश में सही जगह मिलनी चाहिए, ये लड़ाई है।

By: वतन समाचार डेस्क

 राहुल गांधी ने विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि हरीश रावत जी, पी सी चाको जी, पीएल पुनिया जी, शीला दीक्षितजी, नदीम जावेद जी, पीएस बावा जी, अनिल तोमर जी, माईन्योरिटी विभाग के हमारे सब साथी, भाईयों और बहनों, प्रेस के हमारे मित्रों, आपका सबका यहाँ बहुत-बहुत स्वागत, नमस्कार।

कैसे हैं आप लोग? (उपस्थित जनसमूह ने श्री गांधी को अभिवादन किया) ठीक हैं? आपको देश का माहौल कैसा लग रहा है? ठीक लग रहा है? आपने टी.वी. पर ध्यान से नरेन्द्र मोदी जी का चेहरा देखा है? (उपस्थित जनसमूह ने कहा- घबराए हुए हैं) सच्चाई को कोई छुपा नहीं सकता है, अगर आप ध्यान से देखेंगे तो आप नरेन्द्र मोदी जी के चेहरे पर घबराहट देखेंगे, डर देखेंगे। अब 2019 में नरेन्द्र मोदी जी को पूरा पता लग गया है कि हिंदुस्तान को बांटने से, नफरत फैलाने से हिंदुस्तान पर राज नहीं किया जा सकता है। हिंदुस्तान का प्रधानमंत्री सिर्फ हिंदुस्तान को जोड़ने का काम कर सकता है, अगर वो नहीं करेगा तो जनता उसे हटा देगी। 5 साल पहले कहा जाता था - 56 इंच की छाती है, नरेन्द्र मोदी जी 15 साल राज करेंगे, आज कांग्रेस पार्टी ने नरेन्द्र मोदी जी के रेप्यूटेशन की धज्जियाँ उड़ा दी हैं। चाहे वो किसानों की बात हो, चाहे वो मजदूरों की बात हो, गरीबों की बात हो, भ्रष्टाचार की बात हो, जहाँ भी आप देखें, नरेन्द्र मोदी जी की सच्चाई कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं ने, आप लोगों ने देश को बताई है। 2019 में नरेन्द्र मोदी जी, बीजेपी और आर.एस.एस. को कांग्रेस पार्टी हराने जा रही है।

पहले होता था – बीजेपी के लोग कहते थे, अच्छे, दूसरी तरफ से जनता कहती थी – आएंगे। अच्छे दिन... आएंगे। अब देश में कांग्रेस पार्टी के नेता नहीं, दिल्ली के किसी भी कोने में, महाराष्ट्र के किसी भी कोने में जब कोई कहता है, चौकीदार (सबने कहा चोर है।), चौकीदार (सबने कहा चोर है।) अब देश के चौकीदार मुझसे थोड़े गुस्सा हुए हैं, वो कहते हैं, आपने हमें बदनाम कर दिया, मगर मैं उनसे माफी मांगना चाहता हूं। हमने आपको बदनाम नहीं किया, आप बहुत अच्छा काम करते हैं, हम सिर्फ एक चौकीदार की बात कर रहे हैं, जो... (जनता ने कहा, चोर है) चोर है।

ये देश किसी एक जाति का, किसी एक धर्म का, किसी एक प्रदेश का, किसी एक भाषा का नहीं है, ये देश हिंदुस्तान के हर व्यक्ति का है। लड़ाई दो विचारधाराओं के बीच में है। एक विचारधारा कहती है – ये देश सबका है। मैं उदाहरण देना चाहता हूं – हिंदुस्तान के पहले एजूकेशन मिनिस्टर कौन थे, क्या नाम था उनका -  मौलाना आजाद जी। तो अगर आज आप आईआईटी की बात करते हैं, अगर आज आप आईआईएम की बात करते हैं, आज अगर आप हिंदुस्तान की शिक्षा के सिस्टम की बात करते हैं तो आपको मौलाना आजाद जी की बात करनी ही पड़ेगी। अगर आप स्पेस प्रोग्राम की बात करते हैं, तो स्पेस प्रोग्राम की नींव किसने रखी, नाम क्या था - विक्रम साराभाई। उनका धर्म क्या था - जैन धर्म। तो अगर आप स्पेस प्रोग्राम की बात करते हैं तो आपको विक्रम साराभाई जी की बात करनी पड़ेगी। अगर आप सफेद क्रांति की बात करते हैं, तो आपको कुरियन जी की बात करनी पड़ेगी, हाँ। अगर आप 1971 की बात करते हैं, तो आपको फील्ड मार्शल मानिक शाह जी की बात करनी पड़ेगी, हाँ। अगर आप लिब्रलाइजेशन की बात करते हैं और अगर आप इक्नॉमिक ग्रोथ की बात करते हैं तो आपको डॉ. मनमोहन सिंह जी की बात करनी पड़ेगी। तो हमारी जो माईन्योरिटीज हैं, इन्होंने हर कदम पर देश को बनाने का काम किया है और इस देश को हर धर्म के लोगों ने बनाया है। ये देश हम सबका है।

आप सबका बहुत-बहुत धन्यवाद, नमस्कार, जय हिंद।

 

दो विचारधाराएं हैं। एक विचारधारा कहती है - ये देश सोने की चिड़िया है, अमित शाह जी के शब्द हैं। अमित शाह जी ने कहा कि ये देश सोने की चिड़िया है। मतलब ये देश एक प्रोडक्ट है। सोने की चिड़िया से सोना मिलता है और उसका फायदा चुने हुए लोगों को मिलना चाहिए। दूसरी सोच – ये देश एक नदी जैसे है, इस नदी में सब लोग हैं, ये एक साथ चलती है और हर एक व्यक्ति को नदी में, देश में जगह मिलनी चाहिए, चाहे वो किसी भी धर्म का हो, किसी भी जाति का हो, कोई भी भाषा बोले, कुछ भी पहने, सबको इस देश में सही जगह मिलनी चाहिए, ये लड़ाई है। लड़ाई, बैटल फील्ड क्या है - कॉन्स्टिट्यूशन। आर.एस.एस. का लक्ष्य क्या है, आर.एस.एस. चाहता है कि हिंदुस्तान का कॉन्स्टिट्यूशन जो है, उसे परे कर दिया जाए और इस देश को नागपुर से चलाया जाए। ज्यूडिशियल सिस्टम में आर.एस.एस. अपने लोग डालते हैं, चुनाव आयोग में अपने लोग डालते हैं, सीबीआई का चीफ अगर नरेन्द्र मोदी जी पर जांच करना चाहता है तो उसको परे करते हैं, आर.एस.एस. का आदमी डालते हैं, तो उनका लक्ष्य हिंदुस्तान के हर इंस्टीट्यूशन को खत्म करने का है और वो चाहते हैं कि हिंदुस्तान को नागपुर से चलाया जाए और उनके बोस का क्या नाम है – मोहन भागवत जी। मोहन भागवत जी पूरे देश को पीछे से चलाएं। नरेन्द्र मोदी जी फ्रंट फेसिंग, मोहन भागवत जी पीछे से रिमोट कंट्रोल। ये इनकी सोच है। हमारा कहना है कि हिंदुस्तान के जो इंस्टीट्यूशनस हैं, वो कांग्रेस पार्टी के नहीं हैं, वो किसी पार्टी के नहीं हैं, वो इस देश के इंस्टीट्यूशनस हैं और उनकी रक्षा करना हमारी सामूहिक जिम्मेदारी है, कांग्रेस पार्टी की जिम्मेदारी है, बाकी पार्टियों की जिम्मेदारी है।

नरेन्द्र मोदी जी के प्रधानमंत्री होते हुए जब सुप्रीम कोर्ट के 4 जज बाहर आकर कहते हैं कि हमें काम नहीं करने दिया जा रहा है और उसी लाइन में... जस्टिस लोया जी का नाम लेते हैं और इनडायरेक्टली क्या करें? इनडायरेक्टली कह रहे हैं कि अमित शाह, बीजेपी के प्रेजिडेंट सुप्रीम कोर्ट को काम नहीं करने दे रहे हैं। हर इंस्टीट्यूशन पर आक्रमण करते हैं, ये अपने आपको हिंदुस्तान से ऊपर समझते हैं, ये सोचते हैं कि ये देश नीचे है और हम ऊपर। तीन महीने में हमारा देश इनको समझाने जा रहा है कि देश ऊपर है, आप नीचे।

मैं थोड़ा सा आपको मध्यप्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ के बारे में बताना चाहता हूं, इसकी गहराई आप समझें। 15 साल से मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में सरकार नहीं चली है, 15 साल से मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में हर इंस्टीट्यूशन में आर.एस.एस. ने अपने लोगों को डाला है। कमलनाथ जी ने मुझे बताया कि मध्यप्रदेश में एक स्पेशल मिनिस्ट्री तैयार की गई, 800 करोड़ रुपए उस मिनिस्ट्री में डाले गए, आपको मालूम है वो पैसा कहाँ गया? आपको मालूम है कि इस मिनिस्ट्री ने क्या काम किया?  800 करोड़ रुपए आर.एस.एस. के लोगों को दिए, 800 करोड़ रुपए की मिनिस्ट्री में आर.एस.एस. के सब लोग और एक प्रकार से पूरे मध्यप्रदेश की जनता को कंट्रोल करने का सिस्टम। यही काम इन्होंने छत्तीसगढ़ में किया है। राजस्थान में इतना नहीं कर पाए, क्योंकि हम 5 साल पहले वहाँ थे। तो मैं आपको आश्वासन देना चाहता हूं, हम मध्यप्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ में सिर्फ चुनाव नहीं जीते हैं, इन राज्यों में आर.एस.एस. के लोगों को एक-एक करके हम सरकार के इंस्टीट्यूशन में से निकालने का काम करेंगे। इन प्रदेशों के ब्यूरोक्रेसी को मालूम होना चाहिए और हिंदुस्तान की ब्यूरोक्रेसी को मालूम होना चाहिए कि आप आर.एस.एस. की ब्यूरोक्रेसी नहीं हो, आप हिंदुस्तान की ब्यूरोक्रेसी हो और आप किसी एक संगठन के लिए काम नही करोगे, आप हिंदुस्तान की जनता के लिए काम करेंगे। ये सच्चाई है। जहाँ भी ये जाते हैं, देश के ढांचे को कैप्चर करने की कोशिश कर रहे हैं।

मिनिस्ट्री में आज गड़करी जी ने लोकसभा में बहुत अच्छा भाषण दिया, मैं था नहीं, पर मैंने सुना। गड़करी जी कहते हैं कि मैं बीजेपी का एक ही नेता हूं जो सब लोगों का काम करता है। (पब्लिक ने कहा बाकी सब चोर हैं), बाकी सब नहीं, गड़करी जी का भी रेप्यूटेशन इतना अच्छा नहीं है। मैंने ये बोला कि बीजेपी के लोग कह रहे हैं, बीजेपी के मंत्री कह रहे हैं कि हमें भी काम नहीं करने दिया जाता है और ये सच्चाई है। आप कांग्रेस पार्टी की सरकारें देखिए, शायद हम उसको ज्यादा ले जाते हैं, हमारी सरकारों में हर मंत्री अपना फैसला लेते हैं, मनमोहन सिंह जी जरुर प्रधानमंत्री रहे, मगर उसमें हमारे सब मंत्रियों की जगह होती है, क्योंकि हम आवाज सुनकर काम करते हैं, हम जनता की आवाज सुनकर काम करना चाहते हैं। तो आपको मैं आश्वासन देना चाहता हूं, हम बैकफुट पर नहीं खेलने वाले हैं, आपको बिल्कुल घबराना नहीं है, एक सैंकड के लिए भी आपको घबराना नहीं है, क्योंकि आप सब चाहे किसी भी धर्म के हों, किसी भी जाति के हों, कहीं के भी हों, आप सब इस देश के हो और आप सबकी जगह इस देश में आपको मिलेगी।

आखिरी बात, आप एक बात नोट कीजिए, आप इस बात को एक्सेप्ट करते हैं कि 5 साल पहले नरेन्द्र मोदी जी की इमेज जो थी, रेप्यूटेशन जो था, बहुत बढ़िया थी, आप मानते हैं। आप एक्सेप्ट करते हैं कि आज नरेन्द्र मोदी (जनता ने कहा, चोर है) चोर है... मगर आज वो बोल भी नहीं पाते हैं। आज नरेन्द्र मोदी जी खुलकर बोल भी नहीं सकते हैं, आप मानते हैं ना। चाहे वो किसानों की बात हो, चाहे वो रोजगार की बात हो, चाहे वो भ्रष्टाचार की बात हो, प्रधानमंत्री यूं नहीं बोल सकते हैं, आज प्रधानमंत्री (बचाव की मुद्रा का इशारा करते हुए श्री गांधी ने कहा) यूं बोलते हैं। ये काम कांग्रेस पार्टी ने किया है, ये काम कांग्रेस पार्टी ने बीजेपी और आर.एस.एस. को टक्कर देकर, बिना एक इंच पीछे हटकर हमने ये काम किया है। (राहुल गांधी जिंदाबाद के नारों के बीच श्री गांधी ने कहा) मतलब हमने, मतलब आपने, हमने मतलब कांग्रेस पार्टी के हर कार्यकर्ता ने, हमने मिलकर देश को रास्ता दिखाया है।

मैंने आपको ये नाम पढ़कर सुनाए, आजाद जी, साराभाई जी, कुरियन जी, डॉ.मनमोहन सिंह जी, ये नाम मैंने आपको पढ़कर सुनाए। मगर जब इस देश में मुश्किल होती है तो देश कांग्रेस पार्टी की ओर देखता है। सफेद क्रांति, हरित क्रांति, आजादी की लड़ाई, बैंकनेशनलाइजेशन, लिब्रलाइजेशन, कंप्यूटर रेवोल्यूशन, इकनॉमिक लिब्रलाइजेशन, मनरेगा, सूचना का अधिकार, भोजन का अधिकार, जब ये देश रास्ता निकालने का मन बना लेता है तो ये देश ऑटोमैटिक्ली कांग्रेस पार्टी की ओर देखता है। अब मैंने ये सब बातें बताई।

आप बताईए बीजेपी ने यहाँ क्या किया? आप मुझे बताईए नरेन्द्र मोदी जी ने क्या किया है, देश को क्या दिया? (जनसमूह ने कहा, कुछ नहीं करता, देश को लूटा) मैं थोड़ा बताता हूं, नोटबंदी, 500 रुपए- 1,000 रुपए का नोट रद्द किया, देश की जनता को लाइन में लगाया, दो साल पहले मनमोहन सिंह जी ने कहा था कि मोदी जी ने इस फैसले से हिंदुस्तान की 2 प्रतिशत जीडीपी उड़ा दी, एक साल पता लगता है कि 2 प्रतिशत जीडीपी उड़ गई, नरेन्द्र मोदी जी की जिनियस पॉलिसी में। उसके बाद कहते हैं गब्बर सिंह टैक्स लाएंगे। इंफोर्मल सैक्टर, स्मॉल-मीडियम बिजनेसेज की धज्जियाँ उड़ा दीं। उसके बाद क्या होता है, उसके बाद चीन कहता है कि हम नरेन्द्र मोदी जी को टेस्ट करते हैं, देखते हैं, नरेन्द्र मोदी जी में कितना दम है? और चीन डोकलाम में अपनी सेना को भेज देता है। आपको मालूम है क्या हुआ? नरेन्द्र मोदी जी हवाई जहाज में उड़कर बीजिंग जाते हैं, चीन की सरकार के साथ बिना एजेंडा, आप गहराई समझिए, बिना एजेंडा बात होती है! चीन की सेना डोकलाम में, नरेन्द्र मोदी जी चीन में बिना एजेंडा और चीन की सरकार को 2 मिनट में पता लग गया कि भईया, 56 इंच, इसकी तो 4 इंच की छाती नहीं है।

भाईयों और बहनों, हाथ जोड़ा उन्होंने चीन के सामने जाकर, नेशनल सिक्यूरिटी की बात करते हैं, हाथ जोड़ा है चीन के सामने। मतलब, मैं आपको उनका कैरेक्टर बताता हूँ, आप समझिए, मैं अब नरेन्द्र मोदी जी से पांच साल से लड़ रहा हूँ, समझ गया हूँ। आप एक बात करो और मैं किसी भी भाजपा के नेता से गड़करी से किसी से भी कह देता हूँ, आप एक बात करो। नरेन्द्र मोदी जी को मेरे साथ स्टेज पर खड़ा कर दो, मेरे साथ 10 मिनट स्टेज पर खड़ा कर दो, डिबेट करा दो, आप मेरे साथ नरेन्द्र मोदी जी की डिबेट करा दो, नेशनल सिक्यूरिटी पर, राफेल मामले पर डिबेट करा दो (लोगों ने कहा, भाग जाएगा), भाग जाएगा? भाग जाएगा? मेरा कहना है, कि ये डरपोक व्यक्ति हैं, मैं इनको पहचान गया हूँ, ये डरते हैं, जब इनके सामने आदमी खड़ा होता है, कहता है, मैं नहीं जाऊंगा पीछे, क्या करोगे, नरेन्द्र मोदी जी कहते हैं, मैं जा रहा हूँ। मैं बता रहा हूँ, ये आप एक बात समझो, अच्छी तरह समझो, आपके सामने जो लोग खड़े हैं, चाहे वो आरएसएस हो, चाहे वो भाजपा हो, चाहे वो नरेन्द्र मोदी हो, चाहे वो सावरकर हो, ये डरपोक लोग हैं, और जिस दिन हम एक साथ खड़े हो गए, ये भागेंगे। कांग्रेस पार्टी अब खड़ी हो गई है और कांग्रेस पार्टी कह रही है, आओ भईया, अब दिखाएंगे तुम्हे, आ जाओ, राफेल के मामले में दिखाएंगे, किसानों के मामले में दिखाएंगे, रोजगार के मामले में दिखाएंगे, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, तमिलनाडू, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, नॉर्थ ईस्ट, सब जगह दिखाएंगे, खड़े होकर दिखा दो, वो आपके सामने खड़े नहीं हो पाएंगे।

आपको याद होना चाहिए, हिंदुस्तान की आजादी की लड़ाई थी, गांधी जी 15 साल जेल में, सॉलिटरी कंफाइनमेंट, आजाद जी, पटेल जी, नेहरू जी, लाइन लगी हुई थी, सॉलिटरी कंफाइनमेंट 15 साल, 10 साल, 8 साल, 5 साल। भईया पैन देना (एक व्यक्ति से पैन देने का आग्रह करते हुए), सावरकर जी, भईया क्या लिखवाना है, मुझसे? भईया, क्या लिखवाना है, बोलो? अच्छा, क्या लिखवाना है, बोलो जरा, अच्छा भईया, आप अंग्रेज हो न क्या लिखवाना है, अच्छा लिखवाना है कि मैं आपके खिलाफ कभी कुछ नहीं करुँ, अच्छा अभी लिखता हूँ, ये लो, अच्छा और क्या लिखवाना है, पैर छुवाने हैं, चलो पैर छुआता हूँ, ये लो, पैर छुआ देता हूँ। ये है इनका डीएनए! ये कायर है,cowards हैं, डरपोक हैं, आप शेर के बच्चे हो, आप सब शेर के बच्चे हो, आप कांग्रेस पार्टी के हो। जब शेर के बच्चे कायरों के सामने आते हैं, तो कायर भाग जाते हैं।

आप एक बात समझो, चाहे वो किसानों की बात हो, चाहे वो युवाओं की बात हो, चाहे वो हमारे नॉर्थ-ईस्ट के जो भाई है, चाहे वो माईनॉरिटीज की बात हो, कांग्रेस पार्टी और राहुल गांधी और हमारे सब नेता, एक इंच भी पीछे नहीं हटने वाले हैं। दम है आप में, दम है आप में तो नरेन्द्र मोदी जी को मेरे सामने स्टेज पर खड़ा करो और नरेन्द्र मोदी जी से मैं दो सवाल पूछूँगा, भईया, थोड़ा सा अनिल अंबानी के बारे में बताना मुझे? कौन से हवाई जहाज में गए थे आप उसके साथ? अच्छा थोड़ा मुझे बताना, फ्रांस के राष्ट्रपति ने आपसे क्या कहा? आप अमेरिका गए वहाँ आपने किस दोस्त की मदद की? ये आपके अडानी जी, जो हैं, आपने इनको कहाँ क्या दिया? 30 हजार करोड़ रुपए आपने अनिल अंबानी की कंपनी को क्यों दिए? एचएएल को क्यों परे किया? क्योंकि चौकीदार (लोगों ने कहा, चोर है)।

भाजपा के नेताओं से मैं कहता हूँ, इनको मेरे साथ स्टेज पर खड़ा कर दो, पांच मिनट, मैं छः मिनट नहीं मांग रहा हूँ, पांच मिनट। नहीं खड़े हो पाएंगे, क्योंकि नरेन्द्र मोदी जी ने देश को धोखा दिया है, नरेन्द्र मोदी जी ने युवाओं को धोखा दिया है। युवाओं को धोखा दिया है, किसानों को धोखा दिया है और 3 लाख 50 हजार करोड़ रुपए 15 उद्योगपतियों का माफ किया है।

कांग्रेस पार्टी क्रांतिकारी काम करती है, कांग्रेस पार्टी टाइम जाया नहीं करती है। तो मैंने बोला, मैंने अपने जो मैनिफेस्टो बना रहे सहयोगियों से बोला, देखिए, मुझे आप छोटी बात मत बोलिए, मुझे आप ये मतलब, जैसे नरेन्द्र मोदी जी बोलते हैं, मैं देश के किसानों को ढाई रुपए दूँगा, 17 रुपए दूँगा, ये मत बोलिए मुझसे, मुझे इन चीजों में इंट्रेस्ट नहीं है। आप मुझे एक बात बोलो, काम की बात करो मुझसे, मन की बात नहीं, काम की बात। मैंने कांग्रेस पार्टी का चुनावी घोषणा पत्र तैयार कर रहे सहयोगियों से बोला, मैंने बोला, हिंदुस्तान की जो गरीब जनता है, वो पांच साल से नरेन्द्र मोदी जी का चेहरा और उनका कितने रुपए का सूट था, 12 लाख का था (लोगों ने कहा, 12 लाख का), वो जिस पर नरेन्द्र मोदी, नरेन्द्र मोदी, नरेन्द्र मोदी लिखा था, वो वाला, कितने रुपए का था वो? (लोगों ने फिर कहा, 12 लाख का), ये गरीब जनता इनके सूट को, इनके मित्रों के चेहरे और इनका चेहरा देख रही है अब गरीब जनता थोड़ी थक गई है। तो मैं गरीब जनता को थोड़ी शक्ति देना चाहता हूँ, छोटा काम मत बोलो मुझसे। मुझे ऐसा काम बताओ, जो देश को मजबूत करे।

6 महीने बात हुई और मैंने ये भी बोला, देखिए, मनरेगा ऐतिहासिक काम था, भोजन का अधिकार ऐतिहासिक काम था, मगर उससे ऐतिहासिक काम चाहता हूँ मैं, तो डिस्कशन के बाद क्या निकला मैं बताता हूँ। डिस्कशन के बाद निकला, कि नरेन्द्र मोदी जी ने पिछले 5 साल में 3 लाख 50 हजार करोड़ रुपए 15 लोगों को दिए। अनिल अंबानी का कंपनियों पर एक लाख रुपए का कर्जा है, 30 हजार करोड़ रुपए उनकी जेब में डाले। मेहुल चोकसी - नीरव मोदी 30 हजार करोड़ रुपए, विजय माल्या 10 हजार करोड़ रुपए, ललित मोदी, जय शाह लाइन लगी हुई है। तो मैंने बोला एक ऐतिहासिक काम, मुझे आप एक ऐसी बात बोलो, जो मैं खुलकर, चिल्लाकर देश की जनता को बताऊं और जिससे देश की जनता का जो मूड़ है, जो देश की जनता की जो शक्ति है, वो एक साथ खड़ी हो जाए। उन्होंने मुझे बड़ी अच्छी बात बोली, उन्होंने बोला देखिए, कांग्रेस पार्टी ने मिनिमम इंप्लॉयमेंट की गारंटी दी, अब हम उससे भी आगे निकल जाते हैं, हम मिनिमम इंकम की गारंटी दे देते हैं। अब मिनिमम इंकम का क्या मतलब। मिनिमम इंकम का मतलब हिंदुस्तान में जो भी गरीब लोग हैं, चाहे वो कन्याकुमारी में हो, कश्मीर में हो, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, जहाँ भी हों, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, बंगाल, जहाँ भी हैं और देश की जनता को ये समझना है, ये मैसेज मैं सिर्फ आपको नहीं बोल रहा हूँ, जहाँ भी ये गरीब लोग हैं, वहाँ कांग्रेस पार्टी डायरेक्ट, उनके बैंक अकाउंट में मिनिमम आमदनी का पैसा डाल देगी। कहेगी कि आप हिंदुस्तान के नागरिक हो, आप गरीब हो, हमें ये बात अच्छी नहीं लग रही है, हम आपके बैंक अकाउंट में डायरेक्ट पैसा आपके लिए डाल रहे हैं, लीजिए। अगर नरेन्द्र मोदी 15 लोगों की जेब में लाखों करोड़ रुपए डाल सकते हैं, तो हम हिंदुस्तान की गरीब जनता की जेब में भी पैसा डाल सकते हैं।

राहुल-राहुल के नारों के बीच श्री गांधी ने कहा कि दूध क्रांति की, कुरियन जी ने की, नम्बर वन मिल्क प्रोड्यूसर बन गया हिंदुस्तान, सही बात है? ये जो निर्णय लिया गया है, ये पहली बार, दुनिया में पहली बार किसी बड़े देश ने ऐसा निर्णय लिया है, ये इतिहास में कभी हुआ नहीं है। History में कभी हुआ नहीं है कि हिंदुस्तान जितना बड़ा देश कहे कि हम अपनी गरीब जनता के बैंक अकाउंट में डायरेक्ट पैसा डालेंगे और हिंदुस्तान में एक गरीब व्यक्ति नहीं बचेगा, सब की गरीबी दूर करेंगे। तो आप जाइए, आप तीन मैसेज दीजिए, पहला मैसेज, आप चाहे किसी भी धर्म के हों, किसी भी जाति के हो, कोई भी भाषा बोलते हों, कही के भी हों, ये देश आपका है और कांग्रेस पार्टी आपकी रक्षा करेगी और आपको प्रगति से जोड़ने का काम करेगी।

दूसरी बात, कांग्रेस पार्टी किसानों की, गरीबों की, युवाओं की रक्षा करेगी, चाहे वो मिनिमम इंकम की बात हो, चाहे वो रोजगार देने की बात हो।

तीसरी बात, नरेन्द्र मोदी जी की इमेज खत्म हो गई है और मैं भाजपा से कह रहा हूँ कि 5 मिनट नरेन्द्र मोदी जी को मेरे साथ स्टेज पर खड़ा कर दो, इकॉनमी पर बात करेंगे, नेशनल सिक्यूरिटी पर बात करेंगे, राफेल पर बात करेंगे, 5 मिनट आ जाइए, दूध का दूध, पानी का पानी हो जाएगा।

56 इंच की छाती है, मगर प्रेस से बात नहीं कर सकते, प्रेस कांफ्रेंस नहीं कर सकते, वही मैंने कहा घूम कर भाग जाएंगे। तो आपको मैं आश्वासन देना चाहता हूँ, 2019 में कांग्रेस पार्टी चुनाव जीतेगी। कांग्रेस पार्टी देश को जोड़ने का काम करती है, सबको एक साथ लेकर चलने का काम करती है, वो काम हम करते रहेंगे और आप सबको कॉन्फिडेंस होना चाहिए कि मिलकर पूरा का पूरा देश, सिर्फ कांग्रेस पार्टी नहीं, पूरा का पूरा विपक्ष एक साथ मिलकर भाजपा-आरएसएस-नरेन्द्र मोदी जी को हराने जा रहा है।     

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

धर्म

ब्लॉग

अपनी बात

Poll

Should the visiting hours be shifted from the existing 10:00 am - 11:00 am to 3:00 pm - 4:00 pm on all working days?

SUBSCRIBE LATEST NEWS VIA EMAIL

Enter your email address to subscribe and receive notifications of latest News by email.