Updates

Hindi Urdu

सोनिया गांधी के कमान संभालते ही गोदी मीडिया के पेट में मरोड़ शुरू

गोदी मीडिया यह साबित करने में लगा हुआ है कि सोनिया गांधी का चयन गलत हुआ है जबकि कांग्रेस पार्टी स्पष्ट कर चुकी है कि यह हमारा अपना मामला है. कांग्रेस के पूरे भारत में फैले करोड़ों करोड़ों वर्करों और विदेश में शुभचिंतकों की ओर से भी इस पर कोई आपत्ति नहीं आई है. खुद कांग्रेस की ओर से इस बात का ऐलान किया गया है कि कांग्रेस पार्टी के सभी पदाधिकारियों महासचिव सचिव सांसदों की ओर से यही कहा गया कि राहुल गांधी कांग्रेस की अगुवाई करैं.

By: वतन समाचार डेस्क

नयी दिल्ली: लोकतंत्र में किसी भी पार्टी को अपने अध्यक्ष और पदाधिकारी चुनने का पूरा पूरा हक़ है, उसी तरह जिस तरह लोकतंत्र में जनता को अपने नेताओं के चुनने का पूरा पूरा हक़ है, लेकिन 10 अगस्त की देर रात जैसे ही कांग्रेस पार्टी के अंतरिम अध्यक्ष के तौर पर सोनिया गांधी के नाम का ऐलान हुआ वैसे ही गोदी मीडिया के पेट में दर्द और मरोड़ दोनों शुरू हो गया है.

 

 गोदी मीडिया यह साबित करने में लगा हुआ है कि सोनिया गांधी का चयन गलत हुआ है जबकि कांग्रेस पार्टी स्पष्ट कर चुकी है कि यह हमारा अपना मामला है. कांग्रेस के पूरे भारत में फैले करोड़ों करोड़ों वर्करों और विदेश में शुभचिंतकों की ओर से भी इस पर कोई आपत्ति नहीं आई है. खुद कांग्रेस की ओर से इस बात का ऐलान किया गया है कि कांग्रेस पार्टी के सभी पदाधिकारियों महासचिव सचिव सांसदों की ओर से यही कहा गया कि राहुल गांधी कांग्रेस की अगुवाई करैं.

 

जब राहुल गांधी ने मना कर दिया और माफ़ी मांग ली यह कह कर कि ज़िम्मेदारी तय होनी चाहिए उस के बाद राहुल के तेवर के आगे सब बे-बस हो गए. फिर कांग्रेस वर्किंग कमेटी ने इस बात का फैसला किया कि सोनिया गांधी को अंतरिम अध्यक्ष बनाया जाये.

 

 सोनिया गांधी का नाम सामने आते ही गोदी मीडिया के पेट में मरोड़ शुरू हो गया है. जबकि कांग्रेस प्रवक्ता चैनलों पर मौजूद नहीं होते हैं उसके बाद भी गोदी मीडिया दूसरे लोगों से कांग्रेस के खिलाफ बुलवाने की पूरी कोशिश करता है. आज हम आपको बताते हैं कि कैसे सोनिया गांधी के नाम का चयन हुआ.

 

श्री रणदीप सिंह सुरजेवाला ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि बगैर किसी विलंब के महासचिव आर्गेनाईजेशन श्री वेणुगोपाल जी से मैंअनुरोध करुंगा कि वो एक-एक करके आपको तीनों प्रस्तावों की जिनका अनुमोदन हुआ, उन्हें अंग्रेजी में बताएँ और उसके बाद मैं हिंदी मेंजानकारी दूंगा।

 

Reading the first Resolution passed by CWC, Shri K.C. Venugopal said- “The CWC places on record its profound sense of appreciation and gratitude for the exceptional leadership provided by Shri Rahul Gandhi as Congress President.

 

Shri Rahul Gandhi led the party with unbounded drive, fierce determination and dedication. He campaigned in the assembly and national elections with indefatigable energy. He stood up fearlessly on issues of day-to-day concern to kisans, khet mazdoors, workers, traders and small businesses, youth, women, minorities, dalits and adivasis and the weaker sections of our society. He raised his voice boldly against the growing atmosphere of fear and intimidation in our country. These issues continue to be of significant relevance irrespective of the electoral verdict of May 2019.

 

Shri Rahul Gandhi gave a new sense of aggression and modernity to the party organization and opened up numerous opportunities to the younger generation. He inspired every Congress worker through his never-say-die attitude and earned their admiration and respect. He emerged as a beacon of hope for the very large number of people who cherish the idea of India on which our freedom movement and the Constitution was anchored. He came to be seen as a bulwark against the forces of hate, prejudice, bigotry, intolerance and divisiveness.

 

Shri Rahul Gandhi’s instinctive moral compass is evident from the manner in which he has taken personal responsibility for the disappointing performance of the party in the 2019 Lok Sabha elections, thereby setting new standards of accountability in public life. The CWC applauds his courage, commitment and conviction in stepping down as Congress President which was a deeply personal decision but is encouraged that his services, inputs and advice will continue to be available to the party. Each and every Congressman and woman looks to him for continued support and guidance.”

 

Reading the second CWC Resolution, Shri Venugopal said- “The CWC considered the views of PCC Presidents, CLP Leaders, AICC Secretaries and Members of Parliament. The CWC unanimously resolved that Shri Rahul Gandhi should continue as Congress President, as desired by all who were consulted today, and requested him to accept this decision.  However, Shri Rahul Gandhi declined to withdraw his resignation.

 

Consequently, the CWC unanimously resolved to request Smt. Sonia Gandhi to take over as Interim President pending the election of a regular President by the AICC.”

 

श्री सुरजेवाला ने कहा कि जो प्रस्ताव कांग्रेस कार्यसमिति ने सर्वसम्मिति से अनुमोदित किया और जो पार्टी के सम्मानित महासचिव नेआपको बताया, मैं उसका हिंदी अनुवाद आपको बताऊंगा।

 

पहला प्रस्ताव था जो मंजूर हुआ- कांग्रेस कार्यसमिति ने श्री राहुल गांधी जी के अभूतपूर्व नेतृत्व के ना केवल उनकी भूरी-भूरी प्रशंसा की, परंतुउनका दिल से धन्यवाद किया। श्री राहुल गांधी जी ने कांग्रेस पार्टी का नेतृत्व कड़ी मेहनत और न थकने वाली निरंतर लड़ाई लड़ते हुए की। श्रीराहुल गांधी ने हर रोज, हर क्षण देश के किसान, देश की खेत मजदूर, देश के छोटे-छोटे व्यवसायी, देश के युवा, देश की महिलाएं, देश केअल्पसंख्यक वर्ग, देश के अनुसूचित जाति के साथ ही आदिवासी साथी और समाज के हर गरीब वर्ग की लड़ाई लड़ी और श्री राहुल गांधी उनकीआवाज बनकर उभरे। श्री राहुल गांधी ने पूरे देश में भय व हिंसा के वातावरण के खिलाफ निरंतर आवाज उठाई। यह सारे मुद्दे आज भी उतने हीमहत्वपूर्ण हैं, जितने 2019 के लोकसभा के चुनाव से पहले थे। श्री राहुल गांधी जी ने कांग्रेस पार्टी को एक नई ऊर्जा, नई दिशा और आधुनिकताकी तरफ एक नए कदम बढ़ाते हुए अग्रसर किया। श्री राहुल गांधी समाज के हर गरीब के लिए, हर वंचित के लिए, शोषित के लिए, समाज केहर उस तबके के लिए जो सरकार की विषमताओं का शिकार हुआ और कांग्रेस के करोड़ों-करोड़ों कार्यकर्ताओं के लिए वे उम्मीद की एक नईकिरण बनकर उभरे। श्री राहुल गांधी जी ने नफरत, संकीर्णता, संवेदनशीलता और विभाजन के माहौल के खिलाफ एक निर्णायक लड़ाई लड़ी।श्री राहुल गांधी जी ने राजनीतिक जीवन में, सार्वजनिक जीवन में नैतिकता का एक नया मापदंड निर्धारित करते हुए 2019 के भारतीयराष्ट्रीय कांग्रेस की हार के लिए स्वयं जिम्मेवारी ली।

 

कांग्रेस कार्यसमिति ने श्री राहुल गांधी जी की हिम्मत, उनकी विश्वसनियता औऱ सार्वजनिक जीवन में जवाबदेही निश्चित करने की उनकीकटिबद्धता की प्रशंसा भी की और उसका अनुमोदन भी किया। कांग्रेस कार्यसमिति ने श्री राहुल गांधी जी के नेतृत्व में विश्वास जताते हुए कहाकि उनका नेतृत्व और उनका मार्गदर्शन, उनका सहयोग और उनका समर्थन लगातार भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के करोडों-करोड़ों कार्यकर्ताओंको मिलता रहेगा।

 

दूसरा प्रस्ताव जो सर्वसम्मति से पारित हुआ और जो आदरणीय महासचिव जी ने पढ़कर बताया, कांग्रेस कार्यसमिति ने पार्टी के प्रदेशअध्यक्षों, विधायक दल के नेताओ, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सचिवगणों, पार्टी के राज्यसभा और लोकसभा के सांसदों, उन सबकेविचार आज पूरा दिन अलग-अलग 5 सब ग्रुप्स में जाने। उनके विचारों के अनुरुप जो सर्वसम्मिति से थे औऱ पूरी प्रजातांत्रिक प्रक्रिया कीअनुपालना के बाद कांग्रेस कार्यसमिति ने यह प्रस्ताव पारित किया कि पार्टी के हर नेता और हर प्रतिनिधि की ये इच्छा है कि कांग्रेस अध्यक्षके तौर पर श्री राहुल गांधी अपनी सेवाएं देते रहें और अपने पद पर बने रहें। कांग्रेस कार्यसमिति ने कांग्रेस अध्यक्ष श्री राहुल गांधी को येअनुरोध किया कि वो अपना इस्तीफा वापस ले लें और कांग्रेस अध्यक्ष के अपने पद पर बने रहें, परंतु श्री राहुल गांधी जी ने कांग्रेस कार्यसमितिऔर कांग्रेस के करोडों-करोडों नेताओं और कार्यकर्ताओं के इस अनुरोध को बड़ी विनम्रता और आदर से अस्वीकार करते हुए ये कहा कि वोउनकी भावनाओं का सम्मान करते हैं, परंतु उनका ये मानना है कि जवाबदेही और जिम्मेवारी की पहली कड़ी उनसे शुरु होनी चाहिए। उनकेइस आग्रह के बाद कांग्रेस कार्यसमिति ने एक स्वर से यह निर्णय लिया कि श्रीमती सोनिया गांधी कांग्रेस अध्यक्ष का अंतरिम पद संभाले, जबतक कि अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सत्र में एक रेगुलर कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव नहीं हो जाता। कांग्रेस कार्यसमिति के इस अनुरोध कोश्रीमती सोनिया गांधी जी ने स्वीकार किया।

 

Reading the third Resolution passed by CWC today, Shri Venugopal said- The Congress Working Committee expressed serious concern over the situation in Jammu & Kashmir including reports of clamp down and news blackout. The Congress Working Committee also expressed serious concern about arrest and detention of entire political leadership in Jammu & Kashmir.

 

The Congress Working Committee calls upon the Government to act in a transparent fashion and forthwith permit a delegation of opposition parties in Jammu & Kashmir.

 

श्री सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस कार्यसमिति ने चिंता जताई कि जिस प्रकार से जम्मू-कश्मीर से क्लेंप डाउन (clamp down) और न्यूजब्लैकआउट की रिपोर्ट आ रही है, उनके बारे में अपनी चिंता व्यक्त की। कांग्रेस कार्यसमिति ने इस पर भी चिंता जताई कि जम्मू-कश्मीर केसभी पार्टियों के राजनीतिक नेतृत्व को गिरफ्तार कर लिया गया है। कांग्रेस कार्यसमिति ने देश की सरकार से आग्रह किया कि वो एकट्रांसपेरेंट तरीके से काम करते हुए सभी विपक्षी दलों के सांझा डेलिगेशन को जम्मू-कश्मीर जाने की इजाजत दे। 

 

 

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

धर्म

ब्लॉग

अपनी बात

Poll

Should the visiting hours be shifted from the existing 10:00 am - 11:00 am to 3:00 pm - 4:00 pm on all working days?

SUBSCRIBE LATEST NEWS VIA EMAIL

Enter your email address to subscribe and receive notifications of latest News by email.