Updates

Hindi Urdu

जानिए मक्का में भारत के हाजियों को सब से ज़्यादा किस चीज़ की होती है दिक़्क़त, सऊदी सरकार के इन्तेज़ामात दाद के क़ाबिल!

अंदर और बाहर की ओर जाने वाले दरवाजों और अंदर के पूरे हिस्से की कड़ी निगरानी रखी जा रही है. हज के दौरान सऊदी रेस्क्यू टीम Help Line नंबर 911 पूरी तैयारी के साथ मोर्चा संभाल चुकी है. हज के सभी स्थानों पर 5900 कैमरों की मदद से तुरंत सहायता पहुँचा रही हैं.

By: वतन समाचार डेस्क

उर्दु समेत सात भाषाओं में प्रतिदिन लगभग 45000 काल अटेंड की जा रही है. हज के दिनों में 75000 काल हो जाती है. अधिकारियों ने बताया कि 45 सेकेंड मे आने वाली हर काल को संबंधित डेस्क पर रिफर कर दिया जाता है. एशिया टाइम्स से बात करते हुए उर्दू भाषा के सुपरवाइज़र Zainul Abidin कहते हैं कि ज़्यादातर हिन्दुस्तानी हाजियों को गुमशुदगी और सेहत की समस्या से जूझना पड़ रहा है.

haj_ksa.jpg

 

जेद्दा : जेद्दा एयर पोर्ट पर दुनिया भर से हाजियों के आने का सिलसिला जारी है रोड टू मक्काः और इस के इलावा अन्य तरीकों से हज के लिए लोग मक्का पहुँच रहे हैं. जेद्दा एयरपोर्ट पर 300 से अधिक immigration केंद्र बनाये गये हैं. यहां तैनात immigration के चीफ अफसर Salman Yehya ने बताया कि हम ने पूरी तरह से तेजी के साथ काम करने वाले लोगों को तैनात किया है. सबसे पहले हेल्थ डिपार्टमेंट की टीम हाजियों का स्वागत करती है और उनके हेल्थ कार्ड की जांच करती है.

 

हज 2019 की सभी तैयारियां पूरी कर ली गयी हैं. पवित्र (मुक़द्दस) शहर मक्का और मदीना की सुरक्षा के लिए कड़े इन्तेजामात किये गए हैं. 24 घंटे लगातार निगरानी के लिए जगह जगह 300 CCTV  Camre निगरानी कर रहे हैं.

 

काबा के इर्द गिर्द पूरे हरम शरीफ मे लाइव हालत पर नजर रखी जा रही है. हरम शरीफ के निगराँ (protocol) कमाण्डर Yehya bin Abdurrahman ने सऊदी अरब के मीडिया मन्त्रालय की जानिब से मीडिया coverage के लिए दुनिया भर से आए पत्रकारों को बताया कि इस काम के लिए काफी संख्या में सिक्युरिटी पर्सनल को तैनात किया गया है. 24 घण्टे हरम की सिक्युरिटी पर काम कर रहे हैं.

ind.jpg

अंदर और बाहर की ओर जाने वाले दरवाजों और अंदर के पूरे हिस्से की कड़ी निगरानी रखी जा रही है. हज के दौरान सऊदी रेस्क्यू टीम Help Line नंबर 911 पूरी तैयारी के साथ मोर्चा संभाल चुकी है. हज के सभी स्थानों पर 5900 कैमरों की मदद से तुरंत सहायता पहुँचा रही हैं.

 

उर्दु समेत सात भाषाओं में प्रतिदिन लगभग 45000 काल अटेंड की जा रही है. हज के दिनों में 75000 काल हो जाती है. अधिकारियों ने बताया कि 45 सेकेंड मे आने वाली हर काल को संबंधित डेस्क पर रिफर कर दिया जाता है. एशिया टाइम्स से बात करते हुए उर्दू भाषा के सुपरवाइज़र Zainul Abidin कहते हैं कि ज़्यादातर हिन्दुस्तानी हाजियों को गुमशुदगी और सेहत की समस्या से जूझना पड़ रहा है.

(मक्काः से एशिया टाइम्स के एडिटर अशरफ अली बस्तवी की रिपोर्ट)

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

धर्म

ब्लॉग

अपनी बात

Poll

Should the visiting hours be shifted from the existing 10:00 am - 11:00 am to 3:00 pm - 4:00 pm on all working days?

SUBSCRIBE LATEST NEWS VIA EMAIL

Enter your email address to subscribe and receive notifications of latest News by email.